Panipat : प्राइवेट अस्पताल संचालक डॉ. विशाल मलिक रिश्वत लेते गिरफ्तार

PANIPAT-NEWS

पानीपत, संवाददाता : एंटी करप्शन ब्यूरो की अंंबालाऔर कैथल की संयुक्त टीम ने पानीपत के एक निजी अस्पताल के संचालक डॉ. विशाल मलिक से दो लाख रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया है। स्वास्थ्य विभाग के पीएनडीटी प्रभारी डॉ. पवन कुमार क्लर्क एवं नवीन कुमार फरार चल रहे हैं। आरोप लगा हैं कि इन्होंने डॉ. विशाल मलिक के द्वारा छाबड़ा डायग्नोस्टिक सेंटर के संचालक से तीन लाख रुपये की घूस मांगी थी। एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने आरोपी को दोपहर बाद न्यायालय में पेश करेगी।

पीएनडीटी के नोडल इंचार्ज और क्लर्क फरार

बरसत रोड स्थित छाबड़ा डायग्नोसिस सेंटर के संचालक ने एंटी करप्शन ब्यूरो के एसपी राजेश फौगाट को शिकायत की थी। उन्होंने रिकॉर्डिंग समेत अन्य सबूत पेश किए। उनका आरोप है कि पीएनडीटी प्रभारी डॉ. पवन कुमार ने पिछले दिनों डायग्नोस्टिक सेंटर का निरीक्षण किया था। उनको अनियमितता बताते हुए सील करने की धमकी दिया था और इसकी एवज में तीन लाख रुपये की घूश मांगी थी। इसमें बाद में दो लाख रुपये देने पर सहमति बनी । क्लर्क नवीन कुमार ने उनको फोन करके पैसे आधार अस्पताल के संचालक डॉ. विशाल मलिक के द्वारा देने की बात कही।

उन्होंने उनको यह धनराशि सीधे देने की बात कही तो उन्होंने मना कर दिया। एसडी ने अंबाला और कैथल एंटी करप्शन ब्यूरो की संयुक्त टीम बनाई गई । टीम में इंस्पेक्टर सूबे सिंह और डीएसपी पवन की देखरेख में कार्रवाई की गई । एसीबी की संयुक्त टीम ने शुक्रवार को देर शाम को बरसत रोड स्थित आधार अस्पताल के नजदीक पहुंच गयी । शिकायतकर्ता ने बरसत रोड स्थित आधार अस्पताल में संचालक डॉ. विशाल मलिक को दो लाख रुपये देकर टीम को इशारा कर दिया । टीम ने डॉ. विशाल मलिक को दो लाख रुपये की रिश्वत के साथ रंगे हाथो गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी ने कबूल किया आरोप

आरोपी डॉ. विशाल मलिक ने एसीबी के सामने अपना अपराध कबूल कर लिया हैं। उन्होंने बताया कि क्लर्क नवीन कुमार और डॉ. पवन कुमार ने उनको फोन कर पैसे देने की बात कही थी। एसीबी की टीम ने आरोपी के खिलाफ तहसील कैंप थाना में भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया।

सूबे सिंह, प्रभारी, एसीबी ने बताया कि दो लाख रुपये की रिश्वत के साथ आधार अस्पताल के संचालक डॉ. विशाल मलिक को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी डॉ. पवन कुमार और क्लर्क नवीन कुमार फरार हैं। डॉ. विशाल मलिक को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेने का प्रयास किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don’t judge Yo Jong by her beauty जल्दी से वजन घटाने के लिए 7 दिन तक फॉलो करें ये डाइट प्लान खत्म हुआ हार्दिक पांड्या और नताशा स्टेनकोविच का रिश्ता? करोड़ों की मालकिन हैं कंगना रनौत बिना किस-इंटिमेट सीन 35 फिल्में कर चुकी हूं