गंगा गौरव महोत्सव : भक्ति के रस में डूबे काशीवासी, उमड़ा जनसैलाब

GANGA-GAURAV-MAHOTSAV

वाराणसी, संवाददाता : गंगा गौरव महोत्सव के दूसरे दिन गायन की प्रस्तुति फिल्मी गायक अमित गुप्ता ने की। उन्होंने राधे-राधे तेरी दीवानी जीत की प्रस्तुति दी तो घाट की सीढ़िया पर बैठे श्रोता भक्ति के रस में डूब गए। अमित गुप्ता ने अपनी दूसरी प्रस्तुति केशरी फेम सॉग और चर्चित गीत ‘तेरी मिट्टी में मिल जावा गुल बनकर मैं खिल जावां’ गाया।

मां गंगा के तट पर जब काशीराज शिव शंकर (काशी विश्वनाथ) के नमो नमो जी शंकरा गीत की प्रस्तुति अभिजीत ने दी तो घाट की सीढ़ियों पर बैठे काशीवासी भी झूम उठे। गंगा गौरव महोत्सव के दूसरे दिन रविवार को कई कलाकारों को सुनने के लिए मां गंगा के किनारे (राजघाट) पर शाम से ही लोगों की भीड़ जम चुकी थी। अवसर था नमामि गंगे के द्वारा आयोजित दो दिवसीय गौरव गंगा के कार्यक्रम का।

गंगा गौरव महोत्सव के दूसरे दिन गायन की प्रस्तुति फिल्मी गायक अमित गुप्ता ने की। उन्होंने राधे-राधे तेरी दीवानी जीत की प्रस्तुति दी तो घाट की सीढ़िया पर बैठे श्रोता भक्ति के रस में डूब गए। अमित गुप्ता ने अपनी दूसरी प्रस्तुति केशरी फेम सॉग और चर्चित गीत ‘तेरी मिट्टी में मिल जावा गुल बनकर मैं खिल जावां’ गाया। जिसके बाद अभिजीत श्रीवास्तव की दूसरी प्रस्तुति शुरू हुई।

अभिजीत ने जब नमो नमो जी शंकर की धुन छेड़ी तो घाट की सीढ़िया पर बैठे श्रोता भी अपने हाथों को उठाकर भगवान शिव शंकर के गीत पर झूमने को मानो मजबूर हो गए। वहीं विश्वजीत घोष ने नमामि गंगे के थीम सॉन्ग की प्रस्तुति दी। इसके पश्चात संगीतकार शाहिद माल्या ने मेरे घर राम आए हैं… और तुम्हें कितना चाहते हैं हम की प्रस्तुति दी। राजघाट पर गंगा गौरव महोत्सव में कलाकारों की प्रस्तुति रात 11:00 बजे तक चलती रही और घाट की सीढ़िया पर संगीत प्रेमियों की भीड़ बैठी हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार