UP : मुलायम की जयंती पर सैफई में स्मारक का शिलान्यास करेंगे अखिलेश यादव

UP-NEWS (9)

लखनऊ,ब्यूरो : सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव की जयंती पर बुधवार को उनके नाम पर बनाए जा रहे स्मारक का शिलान्यास किया जाएगा। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अपने पूरे परिवार के साथ इसकी आधार शिला रखेंगे। 10 अक्तूबर 2022 को नेता जी के निधन के बाद अंत्येष्टि के समय सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उनके परिवार ने नेता जी के नाम पर सैफई में स्मारक बनवाने का निर्णय लिया था। इसके तहत ही तैयारियां शुरू कर दी गई थीं।

आज मुलायम सिंह की जयंती पर स्मारक का शिलान्यास सुबह 11 बजे सपा प्रमुख अखिलेश यादव परिवार और सपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ करेंगे। शिलान्यास के शुभ अवसर पर देशभरके समाजवादी नेता और कार्यकर्ता आने की उम्मीद है। इसके लिए मंगलवार देर शाम तक तैयारियां होती रहीं।

मैदान में पांच सौ वीआईपी लोगों के बैठने के लिए अलग से व्यवस्था कराई गई है। वहीं, लगभग 15 हजार लोगों के बैठने के लिए लाल कुर्सियां सैफई नुमाइश मैदान में डलवाई गई हैं। पूरे नुमाइश मैदान में लगीं बैरिकेडिंग में लाल झंडे लहलहा रहे हैं। कार्यक्रम में सपा के साथ ही अन्य राजनीतिक दलों के नेताओं के भी बड़ी संख्या में पहुंचने की उम्मीद है। कार्यक्रम का समापन दोपहर दो बजे किया जाएगा। स्मारक में सुगमता के लिए 4.5 एकड़ जमीन पर एक भव्य पार्क और जन सुविधाओं के प्रबंधन कराने की भी योजना है।

ऐसा बनेगा स्मारक

स्मारक की रूपरेखा में लोककला की झलक और गुणवत्ता का ख्याल रखा जाएगा। म्यूजियम में जमीन से जुड़े हुए भारत के गौरव, महान राजनीतिज्ञ नेताजी की सादगी और गुणवत्ता की भी झलक देखने को मिलेगी। उत्तर प्रदेश की उर्वरा भूमि पर इस स्मारक का स्वरूप समलंबाकार होगा। इसमें प्रमुखता से जमीन से जुड़े होने का ध्यान रखते हुए दृश्यावली (लैंडस्केप) दर्शनीय होंगे। लैंडस्केप लोकजीवन से जुड़ी भव्य सामग्री से निर्मित एक रंग पट्टिका इस दृश्यावली में होगी। चारों तरफ एक लंबी दीर्घा का प्रबंध किया गया है। इससे अंत्येष्टि स्थल तक पहुंचा जा सकता है।

अंत्येष्टि स्थल भी अनेक दृश्यावलियों की श्रृंखला से दोनों तरफ से सुसज्जित होगा। यह स्मारक 8.3 एकड़ जमीन पर बनाया जाएगा। प्रवेश द्वार से अंत्येष्टि तक पहुंचने के लिए दृश्यावलियों की श्रृंखला, चौक और प्रांगण होंगे। दोनों तरफ रम्य स्तंभों की योजना है। जिससे दर्शकों को एक सुखद शांतिमय वातावरण की अनुभूति हो। इसके पार्श्व में एक दृश्यावली, मध्य में एक स्मृति सभागार होगा, जिसमें नेताजी की एक कांसे की भव्य प्रतिमा होगी।

सभागार तक आवागमन के लिए चारों तरफ घास के मैदान होंगे। स्मृति सभागार में दर्शकों को नेताजी को श्रद्धांजलि देने के दौरान मिलने जुलने और परामर्श भी करेंगे । मुलायम सिंह की भव्य प्रतिमा लगाई जाएगी उनसे जुड़ी चीजों और तस्वीरों का संग्रह किया जाएगा। स्मारक के निर्माण कार्य नेताजी के नाम से बनाए गए ट्रस्ट के माध्यम से किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार