40 करोड़ रुपये की धनराशि से माता वैष्णो देवी रेलवे स्टेशन का होगा पुनर्विकास

PM-MODI

जम्मू , संवाददाता : जिला रियासी कटड़ा स्थित माता वैष्णो देवी रेलवे स्टेशन का मौजूद सुविधाओं को और बढ़ाने यात्रियों के लिए नई सुविधाएं शुरू करने के लिए 40 करोड़ रुपये की धनराशि से पुनर्विकास किया जाएगा। अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत यह पुनर्विकास किया जाना है।

पीएम मोदी ने 19,000 करोड़ रुपये से देश भर में 553 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की रखी आधारशिला

सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने 19,000 करोड़ रुपये से ज्यादा की धनराशि से देश भर में 553 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला रख दिया । इसके साथ ही पीएम ने 1,500 सड़क ओवरब्रिजों और अंडरपासों का शिलान्यास, उद्घाटन कर दिया । केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने माता वैष्णो देवी रेलवे स्टेशन के औपचारिक पुनर्विकास को चिह्नित करते हुए एक पट्टिका का अनावरण कर दिया।

जितेंद्र सिंह ने कहा कि कटड़ा रेलवे स्टेशन को अमृत भारत स्टेशन योजना में सम्मिलित करना इस क्षेत्र के विकास के लिए प्रधान मंत्री के विशेष फोकस को दर्शाता है। जितेंद्र सिंह बोले कि यह स्टेशन वंदे भारत ट्रेन के शुभारंभ के लिए चुने गए स्टेशनों में से भी एक है । वर्तमान समय में दिल्ली से कटड़ा के बीच दो वंदे भारत ट्रेने चल रही हैं।

जीतेन्द्र सिंह बोले कि पीएमओ ऑफिस में राज्य मंत्री केअनुसार कि यह देश का पहला स्टेशन होने का गौरव भी रखता है जहां सौर ऊर्जा सुविधा का अनावरण कर दिया गया है। कटड़ा स्टेशन के साथ ही उधमपुर, जम्मू और बडगाम रेलवे स्टेश का भी अमृत स्टेशनों के रूप में पुनर्विकास किया जाएगा। चार में से तीन जम्मू क्षेत्र में हैं। यह प्रधानमंत्री की प्रतिबद्धता को मजबूत करता है।

कटड़ा स्टेशन एक इंटर-मॉडल स्टेशन के रूप में उभरेगा

जीतेन्द्र सिंह बोले कि कटड़ा स्टेशन एक इंटर-मॉडल स्टेशन के रूप में उभरेगा, जो रेल, सड़क और हवाई यात्रा को एकीकृत करेगा ताकि लोग एक मोड से दूसरे मोड में निर्बाध रूप से जा सकें। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया गया है कि देश का प्रत्येक नागरिक और क्षेत्र अपनी प्रतिभा और संसाधनों के अनुरूप अपनी अधिकतम क्षमता का उपयोग करे।

जीतेन्द्र सिंह ने कहा कि अब एक गरीब आदमी का बेटा या बेटी बड़े सपने देख सकते हैं, सिविल सेवाओं जैसी प्रतिष्ठित परीक्षाओं में भाग ले सकते हैं और सत्ता के गलियारे तक पहुंच सकते हैं, चाहे उनका धर्म, जाति या क्षेत्र कुछ भी हो। उम्मीदें फिर से जगी हैं और भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद जैसी बुराइयों पर अंकुश लगा है।

अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत पुनर्विकास के लिए चुने गए 553 रेलवे स्टेशनो 27 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में फैले हुए हैं। 19,000 करोड़ रुपये की धनराशि की लागत से इन स्टेशनों का पुनर्विकास किया जाएगा।

यह स्टेशन सिटी सेंटर के रूप में कार्य करेंगे, जो शहर के दोनों किनारों को एकीकृत करेगा, और इसमें आधुनिक यात्री सुविधाएं होंगी। स्टेशनों को पर्यावरण अनुकूल और दिव्यांग अनुकूल के रूप में पुनर्विकसित किया जाएगा। इन स्टेशन भवनों के डिजाइन स्थानीय संस्कृति, विरासत और वास्तुकला से प्रेरित होगी।

ये रोड ओवरब्रिज और अंडरपास 24 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में फैले हुए हैं और इन परियोजनाओं की कुल लागत लगभग 21,520 करोड़ रुपये है। इन परियोजनाओं से भीड़भाड़ कम होगी, सुरक्षा और कनेक्टिविटी बढ़ेगी, रेल यात्रा की क्षमता और दक्षता में सुधार होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SC बोला- रामदेव और आचार्य बालकृष्ण अदालत में पेश हों पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान