Monsoon Updates : दिल्ली-यूपी में मौसम बदला, हिमाचल और महाराष्ट्र में भारी वर्षा का अनुमान

UP-MAHARASHTRA

नई दिल्ली,न्यूज़ डेस्क : देश में मानसून की दस्तक के बाद से ही केरल, महाराष्ट्र, हिमाचल और उत्तराखंड समेत कई राज्यों में लगातार भारी बारिश हो रही है। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, लगभग पूरे देश में मानसून आगे बढ़ चुका है। सप्ताहांत के अंत तक दिल्ली, यूपी, बिहार और राजस्थान समेत कई राज्यों में भारी वर्षा होने का अनुमान है।

दिल्ली में आज हल्की वर्षा होने की संभावना

इस साल चक्रवात बिपरजॉय के प्रवेश के कारण मानसून में थोड़ी देरी हुई, लेकिन पिछले हफ्ते इसने दक्षिण और पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों को कवर कर लिया। मानसून ने भीषण गर्मी से जूझ रहे मैदानी क्षेत्र के लोगों को राहत पहुंचाई है। हालांकि, पिछले सप्ताह शुरू हुई मूसलाधार बारिश ने टमाटर की फसल को प्रभावित किया है, जिसके परिणामस्वरूप कीमत में वृद्धि हुई है।

मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, गुरुवार को शहर में बादल छाये रहने और हल्की बारिश होने की संभावना है। मौसम कार्यालय ने कहा कि न्यूनतम तापमान 27.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस रहेगा। राष्ट्रीय राजधानी में सुबह करीब साढ़े आठ बजे सापेक्षिक आर्द्रता 81 प्रतिशत दर्ज की गई। दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) सुबह 8:40 बजे के पास ठीक रहा (83) श्रेणी में दर्ज कर लिया गया।

महाराष्ट्र के 6 जिलों में भारी वर्षा होने की सम्भावना

मौसम विभाग ने बुधवार शाम को ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी करते हुए महाराष्ट्र के छह जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश की भविष्यवाणी की है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि गुरुवार को कई जिलों में तीव्र बारिश होगी। जिसमें ठाणे, रायगढ़, पालघर (मुंबई से सटे तीनों), रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग और नासिक जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया। मुंबई में गुरुवार को केवल अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। आईएमडी ने शहर के लिए येलो अलर्ट जारी किया है।

हिमाचल प्रदेश के कुछ क्षेत्रो में वर्षा का अनुमान

हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में बुधवार को भी मध्यम से भारी बारिश जारी रही, जिससे भूस्खलन हुआ और राज्य भर में 100 से अधिक सड़कें बंद हो गईं। अधिकारियों ने कहा कि कम से कम 127 सड़कें बंद हैं, जिनमें से 90 के बुधवार रात तक खुलने की उम्मीद है। 24 जून को मानसून की शुरुआत के बाद से बारिश से संबंधित घटनाओं के कारण संचयी नुकसान 219.29 करोड़ रुपये होने का अनुमान है। राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र के आंकड़ों के अनुसार, जल शक्ति विभाग को सबसे ज्यादा 100.97 करोड़ रुपये की क्षति हुई, इसके अतिरिक्त लोक निर्माण विभाग को 90.50 करोड़ रुपये और बागवानी विभाग को 26.22 करोड़ रुपये का क्षति हुई।

पौड़ी,टिहरी,देहरादून में भारी वर्षा का रेड अलर्ट

उत्तराखंड में बुधवार को ज्यादातर क्षेत्रों में बूंदाबांदी दर्ज की गई। देहरादून, हरिद्वार और कुमाऊं के मैदानी क्षेत्रों में तीव्र बौछार भी पड़ी। मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार को प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में भारी वर्षा हो सकती है। देहरादून, पौड़ी और टिहरी में कहीं-कहीं भारी वर्षा को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा नदी-नालों के किनारे रहने वाले व्यक्तियों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खत्म हुआ हार्दिक पांड्या और नताशा स्टेनकोविच का रिश्ता? करोड़ों की मालकिन हैं कंगना रनौत बिना किस-इंटिमेट सीन 35 फिल्में कर चुकी हूं इंग्लिश तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने रिटायरमेंट का किया ऐलान ‘विराट के खिलाफ रणनीति बनाएंगे… : बाबर आज़म