लालू परिवार की आज CBI कोर्ट में पेशी

lalu-faimly

नई दिल्ली,एनएआई : नौकरी के बदले जमीन घोटाला प्रकरण में आज दिल्ली की अदालत में सुनवाई होनी है। जिसमे राजद सुप्रीमो लालू यादव, बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी और उनके परिवार के सदस्य गण दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश हो सकते हैं। दिल्ली की अदालत ने नौकरी के बदले जमीन प्रकरण में 27 फरवरी को लालू प्रसाद, राबड़ी देवी, बेटी मीसा भारती समेत सभी 16 आरोपियो को सम्मन जारी किया गया था और 15 मार्च को अदालत में पेश होने का निर्देश दिया गया था।

सीबीआई की इस प्रकरण में चार्जशीट दाखिल

वर्ष 2004 से 2009 के दौरान रेल मंत्री रहते हुए लालू यादव और उनके परिवार के लोगो ने रेलवे में नौकरी के बदले लोगों से जमीन लेने का आरोप है। लालू परिवार को ये जमीन उपहार में मिली या कम कीमत पर बेच दी गई। सीबीआई ने इस प्रकरण में पिछले दिनों चार्जशीट दाखिल किया था । सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में आरोप लगाया है कि रेलवे की ग्रुप-डी में भर्ती के लिए भारतीय रेलवे के निर्धारित मानदंडों और प्रक्रियाओं का उल्लंघन करते हुए रेलवे में अनियमित नियुक्तियां की गईं थी ।

वहीं, जमीन के बदले नौकरी घोटाले में बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव तीसरी बार नोटिस मिलने के बावजूद पूछताछ के लिए सीबीआई मुख्यालय नहीं पहुंचे। सीबीआई इस प्रकरण में असहयोग के रूप में देख रही है और तेजस्वी यादव के खिलाफ कार्रवाई के लिए कानूनी सलाह मशविरा ले रही है। सोमवार को सीबीआई ने तीसरी बार नोटिस भेजकर तेजस्वी को पूछताछ के लिए बुलाया था। तेजस्वी यादव को मंगलवार को हाजिर होना था,लेकिन तेजस्वी नहीं गए ।

इसके पहले सीबीआई ने तेजस्वी को चार मार्च और फिर 11 मार्च को पूछताछ के लिए बुलाया था। तेजस्वी ने व्यस्तता का हवाला देकर आने में असमर्थता जता दी थी। एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार बार-बार सम्मन मिलने के बावजूद पूछताछ के लिए नहीं आना जांच में सीधे-सीधे असहयोग है। ऐसे में एजेंसी उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सकती है। कानूनी सलाह-मशविरे के बाद एजेंसी जल्द उचित कदम उठाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार