लिपुलेख मार्ग पर चट्टान टूटने से सेना का ट्रक दबा

Landslide -in-Uttarakhand

धारचूला,रिपब्लिक समाचार, संवाददाता : Landslide in Uttarakhand: चीन सीमा तक जाने वाले तवाघाट-गर्बाधार-लिपुलेख मार्ग पर गर्बाधार के पास विशाल चट्टान टूट कर गिर गई। सेना का ट्रक सामान लेकर जा रहा था मलबे में दब गया। ट्रक चालक भी लापता हो गया है। एक दिन बाद भी मलबा नहीं हटाया जा सका है। व्यास घाटी में चीन सीमा से लगे ऊंचाई वाले हिमालय से संपर्क कटा हुआ है। ऊंचाई वाले हिमालय की तरफ गए ट्रक भी फंसे हुए हैं।

बड़े बोल्डरों से दब गया ट्रक

यह घटना रविवार शाम की बताई जा रही है। सेना का ट्रक धारचूला से सेना का सामान गुंजी जा रहा था। ट्रक जब गर्बाधार के पास पहुंचा, अचानक से विशाल चट्टान ट्रूटकर सीधे सेना के ट्रक पर पर गिर पड़ी । ट्रक बड़े बोल्डरों से दब गया और चालक हयात सिंह (उम्र 25 वर्ष) पुत्र धन सिंह निवासी ग्राम रांथी धारचूला तब से लापता हो गया।शाम का समय होने और गर्बाधार इलाके में मोबाइल फोन में सिग्नल न होने के कारण सूचना आधी रात्रि को मिली।

सूचना मिलते ही तहसील से प्रभारी कोतवाल के नेतृत्व में कोतवाली पुलिस, एसडीआरएफ व राजस्व टीम मौके के लिए प्रस्थान कर गई। सोमवार सुबह से मलबा हटाने का कार्य जोर शोर से चल रहा है। घटना के एकदिन होने जा रहे हैं, परंतु बड़े बोल्डरों को तोड़ना चुनौती बना हुआ है।

मलबे में दबे ट्रक चालक का पता नहीं चल सका है। घटना की जानकारी मिलते ही रांथी गांव सहित अन्य गांवों के ग्रामीण भी खोज एवं बचाव कार्य में लग गए हैं। कहा जा रहा है कि बोल्डरों से दबे ट्रक में केवल चालक ही चला रहा था। रविवार शाम तक उसका कोई पता नहीं सका है। रेस्क्यू का कार्य जारी है।

धारचूला में भारी वर्षा, पिथौरागढ़ में भी हुई बारिश

सोमवार को सुबह से मौसम सामान्य रहने के बाद दोपहर से फिर बिगड़ गया । इस दौरान जिला मुख्यालय में तेज गरज चमक के साथ बारिश हुई । धारचूला में जमकर वर्षा हुई। मुनस्यारी में बारिश लगातार जारी रही। उचाई वाले हिमालय में चौथे दिन भी हिमपात हुआ। सोमवार सुबह मध्य से लेकर उच्च हिमालय तक आसमान साफ था और धूप खिली थी । दोपहर तक उच्च हिमालय सहित मुनस्यारी जैसे ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बादल छाने लगे।

दोपहर को जिला मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्रों में तेज चमक गरज के साथ वर्षा हुई। इसके बाद में मौसम सामान्य हो गया। धारचूला से मिली जानकारी के मुताबिक सीमांत में भारी वर्षा हुई। इस दौरान काली नदी के घाटी वाले क्षेत्रों में जमकर बरसात हुई तो उच्च हिमालय में हिमपात हुआ। सोमवार को भी बारिश , हिमपात के बाद से तापमान में गिरावट आ चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार