एकनाथ शिंदे : मेरे पीछे चट्टान की तरह खड़े रहे शाह

1656502739_10-official-facebook-account

पुणे,रिपब्लिक समाचार,ब्यूरो : असली शिवसेना विवाद पर चुनाव आयोग के निर्णय का अमित शाह ने भी स्वागत किया है। शनिवार को पुणे में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शिंदे ने कहा कि कल सत्यमेव जयते शब्द चरितार्थ हो गया।
शिवसेना में पिछले वर्ष हुई टूट के बाद चुनाव आयोग ने हाल ही में पार्टी का नाम और चुनाव चिह्न एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले गुट को सौंप दिया है। इसी के साथ महाराष्ट्र में बीते कई दिनों से जारी असली शिवसेना-नकली शिवसेना का विवाद खत्म हो गया।

क्या बोले एकनाथ शिंदे ?

उद्धव ठाकरे गुट ने चुनाव आयोग के इस निर्णय पर आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया है, उन्होंने इसे शिवसेना के नाम और निशान की चोरी बताया है। अब इस पूरे विवाद पर पहली बार महाराष्ट्र सीएम एकनाथ शिंदे का बयान आया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ एक कार्यक्रम में शिंदे ने सम्पूर्ण घटनाक्रम को लेकर अपनी बात रखी।
शिवसेना में अपने समर्थन वाले विधायकों को तोड़कर महाराष्ट्र में भाजपा के समर्थन वाली सरकार बनाने को लेकर एकनाथ शिंदे ने अमित शाह की मौजूदगी में उनकी तारीफ करते हुए कहा, “अमित शाह जी ने मुझे बोला था, शिंदे जी आप आगे बढ़ें। हम एक चट्टान की तरह आपके पीछे खड़े रहेंगे। शाह जी ने जो कहा था, वही किया।”

उद्धव गुट की अमित शाह ने ली चुटकी

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने असली शिवसेना विवाद पर चुनाव आयोग के निर्णय का स्वागत किया है। शनिवार को पुणे में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि कल सत्यमेव जयते शब्द चरितार्थ हो गया। चुनाव आयोग ने दूध का दूध पानी का पानी कर दिया। उन्होंने कहा कि एकनाथ शिंदे की शिवसेना को असली नाम शिवसेना और निशान धनुष बाण दोनों मिल गए। जो लोग झूठ का सहारा लेकर चिल्ला रहे थे, आज उन्हें आज पता चल गया है कि सच्चाई किसके पक्ष में है। उन्होंने कहा कि आज पुणे के कार्यकर्ताओं को एक संकल्प करके जाना है कि महाराष्ट्र की सभी सीटें शिवसेना और भाजपा के खाते में आएँगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार