मुख्तार अंसारी को अवधेश राय हत्याकांड में उम्रकैद की सजा

MUKHTAR-ANSARI (3)

वाराणसी,संवाददाता : वाराणसी के बहुचर्चित अवधेश राय हत्याकांड में कोर्ट ने माफिया मुख्तार अंसारी को दोषी करार दिया। सोमवार को विशेष न्यायाधीश (एमपी-एलएलए) अवनीश गौतम की अदालत ने मुख्तार अंसारी को उम्रकैद इसके अतिरिक्त एक लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई गई।

विशेष न्यायाधीश अवनीश गौतम की अदालत ने सुनाई सजा

बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी की मुश्किलें बढ़ गयी हैं। 32 साल पुराने वाराणसी के बहुचर्चित अवधेश राय हत्याकांड में विशेष न्यायाधीश (एमपी-एलएलए कोर्ट) अवनीश गौतम की अदालत ने माफिया मुख्तार अंसारी को उम्र कैद की सजा सुनाई है। एक लाख रुपये से अधिक का जुर्माना भी लगाया है। पूर्वांचल में सभी लोगो की निगाहें इस ओर टिकी थी कि मुख्तार को क्या सजा होगी ।

बीते एक वर्ष में मुख्तार अंसारी को चार प्रकरणों में सजा सुनाई जा चुकी है। लेकिन इन सब के अति रिक्त मामलों में अवधेश राय हत्याकांड में मुख़्तार अंसारी को पहली बार उम्र कैद की सजा सुनाई गई है। कोर्ट के फैसले को देखते हुए सिविल कोर्ट परिसर के साथ ही नौ मंजिला बिल्डिंग स्थित अदालत कक्ष की सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी रही।

अधिवक्ता अनुज यादव ने कहा कि दिनदहाड़े अवधेश राय की हत्या की गई थी। 32 वर्ष पुराने इस प्रकरण में एमपी-एलएलए कोर्ट ने मुख्य आरोपी मुख्तार अंसारी को दोषी करार दिया है। घटना के दो चश्मदीद गवाहों ने गवाही दिया । एमपी-एमएलए कोर्ट में सिर्फ मुख्तार अंसारी का केस चल रहा था, जबकि बाकी अभियुक्तों का प्रकरण इलाहाबाद के जिला न्यायलय में लंबित है।

कोर्ट के फैसले का स्वागत किया – अजय राय

अवधेश राय पूर्व मंत्री व पिंडरा के कई बार विधायक रहे और अब कांग्रेस के प्रांतीय अध्यक्ष अजय राय के बड़े भाई थे। सोमवार को एमपी-एमएलए कोर्ट के फैसले का अजय राय ने स्वागत किया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बड़े भाई की हत्या करने वालों के खिलाफ तीन दशक से ज्यादा समय से संघर्ष कर रहा हूं। माफिया के धनबल, बाहुबल और सत्ता से गठजोड़ के आगे कभी नहीं झुका। न्याय प्रणाली पर पूरा भरोसा रहा है। अपने परिवार और एडवोकेट को धन्यवाद देते हुए कहा कि अजय राय ने कहा मैं रहूं या ना रहूं लेकिन वकील साहब लोगों ने मेरी लड़ाई जारी रखी।

मारुती वैन से आए हत्यारो ने की थी अचानक फायरिंग
3 अगस्त 1991 को वाराणसी के चेतगंज थाना क्षेत्र के लहुराबीर क्षेत्र में रहने वाले कांग्रेस नेता अवधेश राय अपने भाई अजय राय के साथ घर के बाहर खड़े थे। सुबह का समय था। एक वैन से आए बदमाशों ने अचानक फायरिंग शुरू कर दी। अवधेश राय को गोलियों से छलनी कर दिया गया। अस्पताल में अवधेश राय को मृत घोषित कर दिया गया। इस घटना से पूरा पूर्वांचल सहम उठा था।

पूर्व विधायक अजय राय ने इस प्रकरण में मुख्तार अंसारी को मुख्य आरोपी बनाया गया था । साथ में भीम सिंह, कमलेश सिंह व पूर्व विधायक अब्दुल कलाम और राकेश न्यायिक का भी नाम लिखा गया था । इनमें से कमलेश व अब्दुल कलाम की म्रत्यु हो चुकी है। जबकि राकेश न्यायिक का केस प्रयागराज कोर्ट मेंअभी चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खत्म हुआ हार्दिक पांड्या और नताशा स्टेनकोविच का रिश्ता? करोड़ों की मालकिन हैं कंगना रनौत बिना किस-इंटिमेट सीन 35 फिल्में कर चुकी हूं इंग्लिश तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने रिटायरमेंट का किया ऐलान ‘विराट के खिलाफ रणनीति बनाएंगे… : बाबर आज़म