सिपाहियों की सर्विस बुक के पन्ने फाड़ने वाला लिपिक देवेंद्र मौर्य बर्खास्त

KANPUR-NEWS

कानपुर, संवाददाता : प्रमोशन के लिए तीन कांस्टेबलों की सर्विस बुक के पन्ने फाड़ने वाले पुलिस मुख्यालय में तैनात रहे लिपिक (दरोगा) को बर्खास्त कर दिया गया है। एडिशनल सीपी मुख्यालय विपिन कुमार मिश्रा ने जांच के बाद दोषी पाए गए लिपिक देवेंद्र मौर्य की बर्खास्तगी के आदेश जारी कर दिए। जांच में पाया गया था कि गोपनीय विभाग में तैनात लिपिक दरोगा देवेंद्र मौर्य ने तीनों पुलिस कर्मियों की सर्विस बुक (चरित्र पंंजिका) के पेज नंबर 77 को गायब कर दिया था, जिसमें बैड एंट्री समेत सर्विस रिकॉर्ड का डाटा था।

दागी तीनों कांस्टेबलों का नाम प्रमोशन की सूची में शामिल हुआ तो जांच बैठी। खेल पकड़े जाने पर डीसीपी ने चारों को निलंबित करते हुए कांस्टेबलों पर न्यूनतम वेतनमान की कार्रवाई की, जबकि लिपिक की बर्खास्तगी की संस्तुति कर दी थी। फाइल एडिशनल सीपी के पास पहुंची तो उन्होंने उस पर मुहर लगाते हुए बर्खास्तगी के आदेश जारी कर दिए।

वर्ष 2023 में कांस्टेबल व हेड कांस्टेबल की प्रमोशन सूची जारी होनी थी। इस सूची में महिला कांस्टेबल प्रतिमा राजपूत, कांस्टेबल अश्वनी बाथम व डिस्पैच विभाग में मुंशी पद पर तैनात कांस्टेबल युगराज के नाम भी सम्मिलित थे। तीनों कांस्टेबलों का सर्विस रिकाॅर्ड पदोन्नति के काबिल नहीं था। इसलिए तीनों ने पुलिस मुख्यालय में तैनात लिपिक दरोगा देवेंद्र मौर्य की मदद से सर्विस बुक से बैड एंट्री के पन्ने ही हटवा दिए। तत्कालीन पुलिस कमिश्नर बीपी जोगदंड के मामला संज्ञान में आने के बाद जांच के आदेश दिए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SC बोला- रामदेव और आचार्य बालकृष्ण अदालत में पेश हों पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान