वॉर्नर की पत्‍नी कैंडिस ने ऑस्‍ट्रेलिया क्रिकेट पर निकाली भड़ास

warner-candice

नई दिल्‍ली,रिपब्लिक समाचार,स्‍पोर्ट्स डेस्‍क : डेविड वॉर्नर इस युग के सर्वश्रेष्‍ठ बल्‍लेबाजों में से एक हैं। वॉर्नर को क्रिकेट इतिहास में ऑस्‍ट्रेलिया के सभी सर्वश्रेष्‍ठ खिलाडी में से एक बल्‍लेबाज के रूप में उनकी गिनती होती है। वर्ष 2018 बॉल-टेंपरिंग विवाद का साया उनके करियर में काला इतिहास बना रहेगा।

कैडिंस ने क्‍या कहा ?

वॉर्नर ने बॉल टेंपरिंग विवाद के कुछ महीनों बाद अपने लीडरशिप प्रतिबंध के खिलाफ अपील वापस ले लिया था , जिसका मतलब वो दोबारा कभी ऑस्‍ट्रेलियाई टीम की कप्‍तान कभी नहीं बन सकते हैं। आरोन फिंच के क्रिकेट से संन्‍यास लेने के बाद डेविड वॉर्नर वनडे कप्‍तानी की दावेदारी से हाथ पीछे खींच लिए। वॉर्नर की पत्‍नी कैंडिस ने सेंडपेपर गेट विवाद के बाद ऑस्‍ट्रेलिया क्रिकेट पर जमकर गुस्सा निकाला और बोली कि उनके पति को किसी ने समर्थन नहीं दिया ।

कैंडिस वॉर्नर ने मैटी जोंस के पोडकास्‍ट में कहा, ”वहां कोई समर्थन नहीं था। जब हमने दक्षिण अफ्रीका में होटल छोड़ा, तब से डेविड के आंसू बह रहे थे। ऑस्‍ट्रेलिया क्रिकेट का कोई भी अधिकारी उनकी मदद के लिए आगे नहीं था। जबकि आपको खुद ही संभालना था। ऐसा लगा कि बस आप को बाद में मिल जाएगा। आपकी सेवाओं के लिए धन्‍यवाद।”

उन्होंने ने आगे कहा, ”ऐसा लगा कि हम अपना सर्वश्रेष्‍ठ खेल का प्रदर्शन करेंगे लेकिन आप कभी वापसी नहीं कर सके और ऑस्‍ट्रेलिया के लिए खेले। हम आपको सभी चीजों के लिए दोषी ठहराएंगे और उन्‍होंने ऐसा ही किया। जो लोग मेरे करीबी थे, उन लोगों ने मेरा ख्याल रखा। क्रिकेट संस्‍था में किसी ने हमारा साथ नहीं दिया। दुर्भाग्‍य से उस समय हम लोग बहुत परेशान थे। आपको तब वॉशिंग मशीन जैसा एहसास हुआ। आप धुल चुके हैं और अगला खिलाड़ी आपकी जगहले लेगा। बहरहाल, सब कुछ बदला और जॉर्ज बैली व एंड्रयू मैकडोनाल्‍ड ने अच्‍छा कार्य किया। आप संस्‍था से उम्‍मीद करते हैं कि आपका समर्थन करे।”

कैंडिस को लगी फटकार

कैंडिस ने एक और सनसनीखेज दावा ठोका कि ऑस्‍ट्रेलिया क्रिकेट के एक अधिकारी ने उन्‍हें अपना जबान बंद रखने के लिए कहा था। कैंडिस ने कहा, ”क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया में से उस समय किसी ने कहा कि यह टीम हित में है और आप अपनी जबान बंद रखे। इससे मुझे गुस्‍सा आ गया। डेविड भी गुस्‍सा गए और कहा कि हम टीम की काफी इज्‍जत करते हैं, लेकिन हम भी इंसान हैं। वहां किसी ने कोई मदद नहीं किया था । यह बहुत दुखद था क्‍योंकि मैंने इसे स्‍वीकार कर लिया था।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार