Sultanpur : पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के एयर स्ट्रिप पर फिर गरजेंगे लड़ाकू विमान

FIGHTER-PLANE

लखनऊ,संवाददाता : पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के एयर स्ट्रिप पर करीब डेढ़ साल बाद वायुसेना के लड़ाकू विमान फिर गरजेंगे। वायुसेना के रिहर्सल कार्यक्रम के मद्देनजर यूपीडा ने एयर स्ट्रिप की मरम्मत का कार्य शुरू करा दिया है। 24 या 25 जून को वायुसेना के जंगी जहाज फिर लैंडिंग कर सकते हैं। इसे देखते हुए यूपीडा ने एयर स्ट्रिप पर 25 जून तक यातायात बंद कर दिया है। लोग फिर से जंगी विमानों का करतब देख सकेंगे।

वायुसेना ने यूपीडा को एयर स्ट्रिप की मरम्मत करवाने का दिया निर्देश

लखनऊ-गाजीपुर पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर कूरेभार के पास अरवलकीरी करवत के पास वायुसेना के जंगी जहाजों की आकस्मिक लैंडिंग के लिए एयर स्ट्रिप का निर्माण किया गया है। अधिकारियों के अनुसार समय-समय पर वायुसेना की ओर से एयर स्ट्रिप व हवाई पट्टियों को सुरक्षा की दृष्टि से परखा जाता रहता है। एक्सप्रेसवे पर बनी एयर स्ट्रिप को परखने के लिए वायुसेना ने फिर लड़ाकू विमानों को उतारने की योजना बनाई है। इसके अनुसार वायुसेना ने यूपीडा के अधिकारियों को एयर स्ट्रिप की मरम्मत करवाने का निर्देश दिया था। निर्देश पर यूपीडा की तरफ से एक्सप्रेसवे के एयर स्ट्रिप को आवागमन के लिए 11 से 25 जून तक आवागमन बंद कर दिया गया है।

एक्सप्रेसवे की एयर स्ट्रिप पर यातायात बंद करके कंपनी की ओर से मरम्मत कार्य शुरू करा दिया गया है। कंपनी के अधिकारियों की देखरेख में कार्य चल रहा है। इसमें मशीनें भी लगी हुई हैं। इस बीच एयर स्ट्रिप के पास करीब पांच किमी. तक वाहनों को सिक्स लेन के सर्विस रोड से गुजारा जा रहा है। यूपीडा के मुख्य अभियंता सलिल कुमार यादव ने कहा कि एयर स्ट्रिप पर 11 से 22 जून तक मरम्मत का कार्य चलेगा। इसके बाद 23 जून को वायुसेना के अधिकारी एयर स्ट्रिप का निरिक्षण कर सकते हैं। निरीक्षण में एयर स्ट्रिप सही मिलने के बाद वायुसेना के अधिकारियों की ओर से लड़ाकू विमानों का रिहर्सल करने के सम्भावना हैं।

24 या 25 जून को वायुसेना एयर स्ट्रिप पर कर सकती है रिहर्सल

जबकि अभी वायुसेना के रिहर्सल कार्यक्रम का स्पष्ट आदेश व तिथि नहीं आई है लेकिन वायुसेना की ओर से समय-समय पर हवाई पट्टियों पर रिहर्सल किया जाता रहता है। वायुसेना के अधिकारियो ने उम्मीद व्यक्त किया कि 24 या 25 जून को वायुसेना एयर स्ट्रिप पर रिहर्सल कर सकती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 नवंबर 2021 को पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का लोकार्पण अरवलकीरी करवत गांव के पास बनी एयर स्ट्रिप पर किया था। लोकार्पण के समय एयर स्ट्रिप पर वायुसेना के जंगी जहाजों का नजारा करीब एक घंटे तक चला था। वायुसेना के सुखोई, जगुआर, मिराज ने हवा में खूब करतब दिखाए थे। स्वयं प्रधानमंत्री वायुसेना के हरक्युलिस विमान से एयर स्ट्रिप पर उतरे थे।

युद्ध के समय एयर स्ट्रिप का होता है प्रयोग
युद्ध व अन्य आपातकाल में सेना के विमानों को उतारने के लिए अब एक्सप्रेसवे पर एयर स्ट्रिप बनाने का कार्य शुरू हुआ है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के पहले लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर एयर स्ट्रिप बनाई गई थी। अधिकारियों के अनुसार युद्ध के समय हवाई अड्डों के नष्ट होने पर एक्सप्रेसवे की एयर स्ट्रिप का इस्तेमाल वायुसेना की ओर से किया जाता है। यूपीडा के वरिष्ठ अधिकारी अनुराग सिंह बोले कि वायुसेना की ओर से एयर स्ट्रिप पर लैंडिंग संभावित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार