Prayagraj : बैंक मैनेजर एसिड अटैक केस के स्थानांतरण का हुआ आदेश

PRAYAGRAJ-NEWS

प्रयागराज, संवाददाता : इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एसिड अटैक मामले को स्थानांतरित करने की मांग में दाखिल याचिका में नोटिस जारी करने के उपरांत आरोपियों के अधिवक्ताओं की मौजूदगी में याची के पक्ष में फैसला सुनाते हुए मुकदमा स्थानांतरण याचिका को स्वीकार कर लिया है। यह आदेश न्यायमूर्ति अजय भनोट ने शिकायतकर्ता राजू राय सोनकर याचिका पर दिया है।

याची की ओर से अधिवक्ता सुनील चौधरी का कहना है कौशांबी जिले में सैयद सरावा के पूर्व प्रधान आजम सहित अन्य आठ लोगों के विरुद्ध राजू राय सोनकर निवासी हिम्मतगंज प्रयागराज ने अपनी बैंक मैनेजर बेटी पर एसिड अटैक कर जानलेवा हमले किए जाने पर 307, 326 ए ,एससी एसटी एक्ट आदि धाराओं में कौशांबी जिले में थाना चरवा में मुकदमा पंजीकृत कराया था। शिकायतकर्ता ने मुकदमे को प्रयागराज में ट्रांसफर किए जाने के लिए याचिका दाखिल की कहा कि मुख्य आरोपित सैयद सरावा कौशाम्बी का पूर्व प्रधान आजम है।

मुख्य आरोपी आजम ने रची थी साजिश

याची की बेटी ने बैंक ऑफ़ बड़ोदा सैयद सरावा कौशांबी में मैनेजर रहते हुए लोन बकाया होने पर रिकवरी नोटिस जारी किया था। इसके बाद मुख्य आरोपित आजम अन्य 8 दलालों ने साजिश रची तथा एसिड डालकर जानलेवा हमला कर दिया ।याची के अधिवक्ता ने कहा कि मुख्य आरोपित अतीक अहमद गैंग का सदस्य व शातिर अपराधी है 1 दर्जन मुकदमों का आपराधिक इतिहास है और वर्तमान समय में जेल में बंद है।

घटना में शामिल सभी आरोपितों की कुर्की सरकार ने गैंगस्टर एक्ट में की है। मुख्य अभियुक्त आजम की जमानत याचिका हाइकोर्ट ने खारिज कर दी है। चार अभियुक्त जमानत पर हैं आरोपियों द्वारा लगातार मुकदमा वापस लेनेके लिए दबाव बनाया जा रहा है। पीड़िता, वादी एवं गवाह सभी प्रयागराज में रह रहे हैं ।गवाह असिस्टेंट महिला बैंक मैनेजर ने भी घटना से डर कर अपना ट्रांसफर प्रयागराज करवा लिया।

पीड़िता भी प्रयागराज में बैंक आफ बड़ौदा में कार्यरत है। याची ने सरकार को भी पत्र भेज कर मुकदमा ट्रांसफर करने ,सुरक्षा देने की फरियाद की है। ट्रायल कोर्ट ने सम्मन जारी कर यांची को गवाही के लिए बुलाया है ।इससे उसे व पीड़िता व गवाह को जान का खतरा है इस पर न्यायालय ने आरोपियों के अधिवक्ताओं को सुनकर मुकदमा कौशांबी जिले से इलाहाबाद जिले में किये जाने का आदेश पारित कर दिया है. रजिस्ट्री ऑफिस को निर्देशित किया है की तत्काल अभिलेखों को कौशांबी जिले से इलाहाबाद न्यायालय में भेजा जाए।

आरोपियों के अधिवक्ता ने बताया कि ट्रायल काफी धीमा चल रहा है और जल्द खत्म प्रतीत नही हो रहा है इस पर न्यायालय ने अगली सुनवाई की तारीख 6 मार्च लगाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SC बोला- रामदेव और आचार्य बालकृष्ण अदालत में पेश हों पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान