कोविड: क्या आ गई है पाँचवीं लहर?

कोविड coronavirus covid fifth wave

Republic Samachar- Samarth Singh II भारत में कल कोविड के 7,830 नए संक्रमण दर्ज किए गए, जो कि पिछले सात महीनों में सबसे अधिक हैं, इसके साथ ही देश में अब सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 40,215 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत में पिछले एक सप्ताह में रोजाना औसतन 5,555 कोविड-19 मामले दर्ज किए गए, जबकि एक सप्ताह पहले यह संख्या 3,108 थी।

कोविड की पाँचवीं लहर

भारत में जिस हिसाब से कोविड संक्रमण फैलता जा रहा है, उसको देखते हुए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि भारत में कोविड-19 की पाँचवीं लहर या तो आरंभ हो गयी है या जल्द ही आने वाली है लेकिन अभी तक इसकी कोई पुष्टी नहीं हुई है।

कोविड के तेज़ी से बढ़ने के पीछे कोरोनावायरस के नए वैरिएंट XBB.1.16 को ज़िम्मेदार बताया जा रहा है हालांकि एक्सबीबी.1.16 वेरिएंट वायरस का सबसे संक्रामक स्ट्रेन है, विशेषज्ञों ने कहा है कि संभावित पाँचवीं लहर के बारे में घबराने और डरने की कोई जरूरत नहीं है। स्वास्थ मंत्रालय ने कहा, ”भारत में लोगों ने पिछले तीन वर्षों में विभिन्न घातक स्वरूपों के प्रकोप के साथ कोविड-19 संक्रमण के खिलाफ अपार प्रतिरक्षा प्राप्त की है। इसलिए, यह कहना सुरक्षित है कि उभरते वेरिएंट से लहर पैदा होने की संभावना नहीं है क्योंकि अधिकांश आबादी में अच्छी प्रतिरोधक छमता है।

लखनऊ में भी बढ़ रहा संक्रमण

देश के अन्य हिस्सों के साथ लखनऊ में भी कोविड संक्रमण तेज़ी से फैल रहा है, लखनऊ में मंगलवार को 78 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई, जो पिछले 223 दिनों में शहर में एक दिन के सर्वाधिक है। इसके साथ ही लखनऊ में एक्टिव केसों की संख्या 340 पहुंच गई।

ताजा मामलों में सात मरीजों को उनके स्वास्थ्य की स्थिति को देखते हुए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस बीच, पिछले 24 घंटों में 12 मरीज संक्रमण से उबर गए। इससे पहले पिछले साल 27 अगस्त को 75 मामले दर्ज किए गए थे।

लखनऊ के सभी जिला अस्पतालों और चिकित्सा संस्थानों में मंगलवार को कोविड-19 मामलों से निपटने की तैयारियों की जांच के लिए मॉक ड्रिल आयोजित की गई। बलरामपुर अस्पताल में मॉक ड्रिल के दौरान उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक भी मौजूद थे और उन्होंने अस्पताल प्रशासन द्वारा की गई उचित व्यवस्था का निरीक्षण किया। उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि उत्तर प्रदेश के कई अस्पतालों में कोविड मॉक ड्रिल किए गए हैं और कोविड मामलों से निपटने की तैयारी मानकों के अनुरूप पाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार