एससीओ की बैठक में राजनाथ सिंह ने आतंकवाद को लेकर दी चेतावनी

sco-meeting

नई दिल्ली, एनएआई : शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशो ने शुक्रवार को सर्वसम्मति से आतंकवाद की निंदा किया। इसके साथ ही, उन्होंने आतंकवाद पर नियंत्रण करने के लिए एक सुर में सभी ने आवाज उठाई। रक्षा सचिव गिरिधर अरमाने बोले कि इस वर्ष एससीओ के अध्यक्ष के रूप में भारत एक सुरक्षित भविष्य सुनिश्चित करेगा।

आतंकवाद के खिलाफ एससीओ देश एकजुट

अरामाने ने शुक्रवार को एससीओ के रक्षा मंत्रियों की बैठक के समापन पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा, “सभी सदस्य देश अपने बयानो में एकमत हैं कि आतंकवाद, चाहे किसी भी रूप में हो, उसकी निंदा किया जाना चाहिए और उस पर नियंत्रित किया जाएगा।” उन्होंने कहा, “अतिरिक्त-क्षेत्रीय आतंकवादी गतिविधियों, नशीले पदार्थों की तस्करी के खिलाफ आने वाले वर्षों में बड़ी कार्रवाई की जाएगी।”

जबकि दो दिवसीय एससीओ रक्षा मंत्रियों की बैठक 27 अप्रैल को शुरू हुई थी और इसमें सभी सदस्य देशों – मेजबान भारत, कजाकिस्तान,चीन, किर्गिस्तान, पाकिस्तान, रूस, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के प्रतिनिधियों ने भी भाग लिया था। इस के पहले, बैठक के समय भारत ने चीन,पाकिस्तान रूस समेत शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सभी सदस्य देशों से अपील किया है कि वो आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई एक साथ मिल कर लड़े ।

रक्षा मंत्री राजनाथ स‍िंह ने कहा क‍ि हर तरह के आतंकवाद को खत्म करने और आतंकवादी गतिविधियों को फंड उपलब्ध कराने वालों की जवाबदेही तय करने के लिए सामूहिक कार्यवाही करने की जरूरत है। राजनाथ सिंह ने यह भी कहा कि हर तरह का आतंकवाद या इसको मदद करना मानवता का सबसे बड़ा दुश्मन है और इसके साथ शांति व समृद्धि स्थापित नहीं हो सकती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार