ताइवान के राष्ट्रपति से यूएस हाउस के स्पीकर ने की मुलाकात

taivan-president

सिमी वैली, एनएआई : यूएस हाउस के स्पीकर केविन मैक्कार्थी ने बुधवार को कैलिफोर्निया में ताइवान के राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन से मुलाकात की। ताइवान के वरिष्ठ आधिकारिक राजनयिक सहयोगियों की यात्रा करने के बाद लैटिन अमेरिका की दोनो देशों की यात्रा के बाद, रिपब्लिकन नेता ने त्साई इंग-वेन के साथ गर्मजोशी के साथ दोनों नेताओ ने हाथ मिलाया।

चीन ताइवान को मानता है अपना क्षेत्र

त्साई के आगमन के लिए सिमी घाटी में रोनाल्ड रीगन प्रेसिडेंशियल लाइब्रेरी में चीन समर्थक और ताइवांन समर्थक दोनों और से जोरदार प्रदर्शन हुए। चीन ताइवान को अपना क्षेत्र होने के रूप में दावा करता है और ताइवान के अन्य देशों के साथ किसी भी आधिकारिक संपर्क पर बल देता है।

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता माओ निंग ने पत्रकारों से कहा कि “चीन अमेरिका द्वारा त्साई इंग-वेन को अपने क्षेत्र से गुजरने की व्यवस्था करने का कड़ा विरोध करता है।” ताइवान देश में , एक फलता-फूलता लोकतंत्र, दशकों से स्वशासित रहा है। इसकी अपनी सेना है, एक स्वतंत्र न्यायपालिका है। लेकिन कुछ ही देश इसे एक संप्रभु राष्ट्र के रूप में स्वीकार करते हैं।

संयुक्त राज्य अमेरिका औपचारिक रूप से चीन को मान्यता देता है, लेकिन ताइवान का एक महत्वपूर्ण समर्थक है, और मजबूत अनौपचारिक संबंधों को बनाए रखता है। ताईवान को अमेरिकी कांग्रेस के दोनों दलों का समर्थन प्राप्त है, और त्साई के नेतृत्व में वाशिंगटन के नज़दीक हो गया है।

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने कैलिफोर्निया में त्साई के पड़ाव के महत्व को कम करके आंका और चीन को तनाव बढ़ाने के बहाने के रूप में इस्तेमाल करने के खिलाफ आगाह किया गया । उन्होंने ब्रसेल्स में पत्रकारों से कहा, “ताइवान के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा ये पारगमन कोई नई बात नहीं है,” जहां वह नाटो के विदेश मंत्रियों के साथ बैठक कर रहे थे।

विगत वर्ष , मैककार्थी के पूर्ववर्ती, डेमोक्रेट नैन्सी पेलोसी ने दो दशकों में द्वीप का दौरा करने वाले सबसे वरिष्ठ अमेरिकी राजनेता बनकर चीन में रोष फैला ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार