प्रतिबंध खत्म होने पर येस बैंक के शेयर ने ताबड़तोड़ बिकवाली संभव

शेयर मार्केट के दिग्गजों का कहना है कि जैसे ही यस बैंक के शेयर का प्रतिबंध खत्म होगा वैसे ही शेयर के दाम में काफी गिरावट आ सकती है क्योंकि लोग अपना पैसा निकालने को देख सकते हैं।

REPUBLIC SAMACHAR || शेयर मार्केट के दिग्गजों का कहना है कि जैसे ही यस बैंक के शेयर का प्रतिबंध खत्म होगा वैसे ही शेयर के दाम में काफी गिरावट आ सकती है क्योंकि लोग अपना पैसा निकालने को देख सकते हैं।

क्या कहते है विशेषज्ञ ?

निजी निवेशकों और ईटीएफ पर यस बैंक के शेयरों को 3 साल तक बेचने पर लगी भारतीय रिजर्व बैंक की रोक सोमवार को खत्म होने जा रही है विशेषज्ञों का मानना है कि सोमवार को निवेशक बैंक में अपने शेयर बेच सकते हैं। यस बैंक के प्रमुख निवेशकों में एसबीआई की अगुवाई में 9 बैंक शामिल हैं।

स्टेट बैंक पर होंगी निगाहें

आरबीआई के राहत पैकेज के तहत एसबीआई ने मार्च 2020 में बैंक के लगभग 49% शेयरों को ₹10 प्रति शेयर के हिसाब से ₹8 के प्रीमियम पर उठाया था। ईटीएफ के भी निकासी करने की संभावना है। एसबीआई के पास 5 दिसंबर 2022 तक यस बैंक के 26.14% या 605 करोड़ शेयर थे।

लॉक इन की क्या थी वजह

भारी वित्तीय बोझ और गड़बड़ियों से जूझते यस बैंक को उबारने के लिए यस बैंक लिमिटेड रीकंस्ट्रक्शन स्कीम, 2020 लाया गया था। इसकी अधिसूचना 13 मार्च 2020 को जारी की गई थी। इसके स्कीम के क्लॉज 3 के सब-क्लॉज 8 के तहत मौजूदा शेयरधारकों के 75 फीसदी इक्विटी और स्कीम के तहत अलॉट किए गए शेयरों को तीन साल तक के लिए लॉक कर दिया गया। इसके तहत जिनके पास 100 से अधिक शेयर थे, उनकी 75 फीसदी होल्डिंग को लॉक कर दिया गया। अब आज यह लॉक- इन पीरियड खत्म हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खत्म हुआ हार्दिक पांड्या और नताशा स्टेनकोविच का रिश्ता? करोड़ों की मालकिन हैं कंगना रनौत बिना किस-इंटिमेट सीन 35 फिल्में कर चुकी हूं इंग्लिश तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने रिटायरमेंट का किया ऐलान ‘विराट के खिलाफ रणनीति बनाएंगे… : बाबर आज़म