सुरक्षा बलों की सतर्कता से आतंकी साजिश विफल,मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर

suraksha-bal

बारामूला,एनएआई : जम्मू-कश्मीर में शसस्त्र बलों की सतर्कता से एक बार फिर से बड़ी आतंकी साजिश सफल नहीं हो सकी। गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले में शसस्त्र बलों के साथ हुई मुठभेड़ में दोनो आतंकवादी मारे गए हैं। पुलिस सूत्रों ने यह जानकारी उपलब्ध कराई। एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि मुठभेड़ बारामूला जिले में हुई है। फिलहाल सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभाल लिया है। इलाके में सुरक्षाबलों द्वारा सर्च ऑपरेशन भी चलाया जा रहा है।

आतंकियों के पास से हथियार और गोला-बारूद बरामद

कश्मीर जोन पुलिस ने शुक्रवार को कहा कि इन आतंकियों के पास से एके 47 राइफल और एक पिस्तौल सहित कई आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और गोला-बारूद बरामद किये गए हैं। सुरक्षाबलों ने दोनों आतंकवादियों को ढेर कर दिया है और इनके पास भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद किया है । पुलिस अधिकारियों का कहना है कि ये आतंकी घाटी को दहलाने की योजना बना रहे थे।

सर्च ऑपरेशन है जारी
गुरुवार को हुई मुठभेड़ में दोनो आतंकवादी मुठभेड़ में मारे गए हैं। अब बारामूला इलाके में सशस्त्र बल सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं। पूरे क्षेत्र की आवाजाही एकदम से बंद कर दिया गया है एवं तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। शसस्त्र बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा मौके पर सर्च अभियान चलाया जा रहा है।

लश्कर से था ताल्लुक
कश्मीर के एडीजीपी ने कहा की दोनों स्थानीय आतंकवादी हैं, जो आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हैं। इन दोनों आतंकियों की पहचान शोपियां जिले के हनान अहमद सेह और शाकिर माजिद नज़र के रूप में पहचाने गए है। दोनों आतंकी अभी पिछले माह मार्च 2023 के महीने में आतंकवादी संगठन में सम्मिलित हुए थे और कश्मीर घाटी में दहशत फैलाने की फिराक में थे। आगे की कार्यवाही की जा रही है।

कल भी हुआ था एनकाउंटर

इस के पहले बुधवार को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में सशस्त्र बलों के साथ हुई मुठभेड़ में दोनो आतंकवादी मारे गए थे। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक बुधवार सुबह कुपवाड़ा जिले के पिचनाड माछिल इलाके के पास सशस्त्र बलों और आतंकवादियों के बीच जबरदस्त मुठभेड़ हुई।

आतंकी हमले का है अलर्ट
रक्षा जनसंपर्क अधिकारी (पीआरओ) श्रीनगर के अनुसार , सशस्त्र बलों ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) कुपवाड़ा द्वारा प्रदान किए गए इनपुट के आधार पर एक ऑपरेशन सर्च किया गया , आतंकवादी लॉन्च पैड में से एक नियंत्रण रेखा के पार से घुसपैठ कर सकता है। पीआरओ ने अपने एक बयान में कहा कि 1 मई से सैनिकों को हाई अलर्ट मोड़ पर रखा गया है ।

अत्यंत दुर्गम क्षेत्र में एक अच्छी तरह से समन्वित काउंटर-घुसपैठ ग्रिड लगाया गया था। भारतीय सेना और स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप (एसओजी) कुपवाड़ा को भी घुसपैठ के संभावित रास्तो पर नियुक्त किया गया था। बुधवार सुबह लगभग 8.30 बजे, घुसपैठ करने वाले आतंकवादियों को शशस्त्र बलों ने देखा और आत्म समर्पण के लिए कहा लेकिन आतंकवादियो की तरफ से तरफ से गोलाबारी शुरू हो गई। जिसके बाद शस्त्र बलों ने फायरिंग सुरु कर दिया जिसके परिणामस्वरूप दोनो आतंकवादी ढेर हो गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार