IND vs WI: आईपीएल 2022 के सबसे महंगे खिलाड़ि

Most-expensive-players-of-IPL-2022

Republic Samachar|| भारत और वेस्टइंडीज के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज पूरी हो चुकी है। इस सीरीज में भारत के वेंकटेश अय्यर और सूर्यकुमार यादव ने शानदार बल्लेबाजी की। वहीं चहल और भुवनेश्वर कुमार जैसे गेंदबाज भी लय में लौटे, लेकिन आईपीएल 2022 मेगा ऑक्शन में सबसे महंगे बिकने वाले खिलाड़ी कुछ खास नहीं कर पाए। किशन से लेकर श्रेयस और आवेश खान तक सभी भारतीय खिलाड़ी इस सीरीज में लय में नहीं थे। यहां हम बता रहे हैं कि आईपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ियों ने वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज में कैसा प्रदर्शन किया। ईशान किशन इस साल नीलामी में सबसे महंगे बिकने वाले खिलाड़ी थे। मुंबई की टीम ने 15.25 करोड़ रुपये देकर उन्हें खरीदा था। हालांकि, वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज में किशन रन बनाने के लिए जूझते नजर आए। उन्हें विस्फोटक अंदाज में बल्लेबाजी करने के लिए जाना जाता है, लेकिन पूरी सीरीज में किशन का यह विस्फोटक अंदाज नहीं दिखा। वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन टी-20 मैचों में उन्होंने कुल 71 रन बनाए। इस दौरान उनका औसत 23.67 और स्ट्राइक रेट सिर्फ 85.54 का था। पूरी सीरीज में उनके बल्ले से कोई छक्का नहीं निकला। वे सिर्फ नौ चौके लगा पाए।चाहर मेगा ऑक्शन में बिकने वाले दूसरे सबसे महंगे खिलाड़ी थे। चेन्नई ने उन्हें 14 करोड़ की कीमत पर खरीदा था। तीसरे मैच में चाहर ने जरूर 11 गेंदों में दो अहम विकेट लिए थे, लेकिन इससे पहले उनका प्रदर्शन बहुत ही साधारण रहा था। इस सीरीज में चाहर ने 8.5 ओवर की गेंदबाजी में तीन विकेट लिए और 83 रन खर्चे। वे न तो ज्यादा विकेट ले पाए और न ही रन रोक पाए। उनकी इकोनॉमी भी 10 के करीब थी। आखिरी मैच में चाहर चोटिल भी हो गए थे।कोलकाता नाइट राइडर्स ने श्रेयस अय्यर को 12.25 करोड़ में खरीदा था। वे इस नीलामी के तीसरे सबसे महंगे खिलाड़ी बने थे।

वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज

वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज में अय्यर को सिर्फ एक मैच खेलने का मौका मिला। इसमें भी वो कुछ खास नहीं कर पाए। उन्होंने 16 गेंद में 25 रन की पारी खेली, जिसमें चार चौके शामिल थे। विराट और पंत की गैरमौजूदगी में अय्यर को श्रीलंका के खिलाफ ज्यादा मौके मिलेंगे। इस सीरीज में वे अपनी लय हासिल कर सकते हैं। दिल्ली कैपिटल्स ने शार्दुल ठाकुर को 10.75 करोड़ की कीमत पर खरीदा था। ठाकुर को भी टी-20 सीरीज में सिर्फ एक मैच खेलने का मौका मिला, लेकिन उन्होंने अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया। चार ओवर की गेंदबाजी में शार्दुल ने सिर्फ 24 रन दिए और दो विकेट भी निकाले। वो बल्ले के साथ भी योगदान दे सकते हैं, लेकिन उन्हें बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला।हर्षल को उनकी पुरानी टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 10.75 करोड़ में खरीदा था। वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में वे भारत के सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने तीन मैचों में पांच विकेट झटके। हालांकि, हर्षल की इकोनॉमी भी कुछ खास नहीं थी, लेकिन उन्होंने हमेशा मुश्किल समय में गेंदबाजी की और आखिरी के ओवरों में गीली गेंद से रन रोकना मुश्किल होता है। इस लिहाज से उनका प्रदर्शन शानदार रहा। आवेश को मेगा ऑक्शन में लखनऊ की टीम ने 10 करोड़ की कीमत पर खरीदा था और वे आईपीएल इतिहास के सबसे महंगे अनकैप्ड खिलाड़ी बने थे। इस सीरीज में आवेश ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला, लेकिन कुछ खास नहीं कर पाए। उन्होंने अपने चार ओवरों में 42 रन लुटाए और कोई विकेट भी उनके हाथ नहीं लगा। श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में भी आवेश को ज्यादा मौके मिलने की संभावना कम है, क्योंकि बुमराह जैसे सीनियर खिलाड़ी टीम में वापस आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पंजाब से किसानों का दिल्ली कूच पाकिस्तान में गठबंधन सरकार तय Paytm पर सरकार की बड़ी कार्रवाई, क्या अब UPI भी हो जाएगी बंद ? लालकृष्ण आडवाणी को मिलेगा भारत रत्न सम्मान राहुल गांधी की इस बात से नाराज थे नीतीश कुमार