इजरायल ने अल-अक्सा पर दूसरी बार किया हमला

इजरायल israel attacks al-aqsa mosque in palestine,

Republic Samachar- Samarth Singh II इजरायल ने बुधवार को दूसरी बार यरूशलम में अल – अक्सा मस्जिद पर हमला किया। अल – अक्सा मस्जिद दुनिया भर में इस्लाम का पालन करने वाले लोगों के सबसे पवित्र स्थलों में से एक है।

इजरायली पुलिस द्वारा पहली बार अल – अक्सा मस्जिद पर हमला करने के बाद, इसे मुस्लिम दुनिया भर से निंदा मिली लेकिन फिर भी इजरायल ने दूसरी बार धार्मिक स्थल पर छापा मारा और तीन सौ से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया।

इजरायल ने क्यों किया अल – अक्सा पर हमला

फिलिस्तीन और इजरायल के बीच जारी तनाव हमेशा ऐसी स्थिति पैदा करता है जिसमें अल-अक्सा मस्जिद दोनों देशों के लिए युद्ध का मैदान बन जाती है। पुलिस ने एक बयान में कहा, “कानून तोड़ने वाले दर्जनों युवकों ने मस्जिद में पटाखे और पत्थर फेंके थे और खुद को अंदर ले जाने की कोशिश की थी। उन उपद्रवियों को पकड़ने के लिए ही मस्जिद पर छापा मारा गया था”।

दूसरी ओर फिलिस्तीनियों का मानना है कि यह हमला मुसलमानों में डर भरने और देश पर पूर्ण नियंत्रण स्थापित करने के लिए किया गया था। कुछ विशेषज्ञों का यह भी मानना है कि इस हमले के पीछे इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू का कोई व्यक्तिगत मकसद हो सकता है, क्योंकि वह अपने देश में चल रहे सरकार विरोधी प्रदर्शनों को भटकाना चाहते हैं।

बढ़ती निंदा

बुधवार सुबह हुई इस घटना की अरब और मुस्लिम जगत ने निंदा की है। जॉर्डन के विदेश मंत्रालय ने इजरायली पुलिस की कार्रवाई की कड़े शब्दों में निंदा की और इजरायल से मस्जिद से तुरंत अपने बलों को हटाने का आह्वान किया।

मिस्र के विदेश मंत्रालय ने पुलिस द्वारा मस्जिद पर हमला किए जाने की निंदा करते हुए कहा कि इससे “उपासकों और श्रद्धालुओं के बीच कई लोग घायल हुए हैं और यह सभी अंतरराष्ट्रीय कानूनों और रीति-रिवाजों का उल्लंघन है”।

क्या भड़क सकता है मिडिल ईस्ट में युद्ध

इजरायली रक्षा बल (आईडीएफ) ने कहा कि यरूशलम में हुई घटना के बाद गाजा पट्टी से उनकी ओर करीब 12 रॉकेट दागे गए थे। गाजा को चलाने वाले आतंकवादी समूह हमास के नेता इस्माइल हानिया ने एक बयान में कहा कि “अल – अक्सा मस्जिद पर वर्तमान इजरायली कब्जे के अपराध अभूतपूर्व उल्लंघन हैं जो पारित नहीं होगा।

इसके बाद बुधवार को इजरायली सेना ने कहा कि उसके लड़ाकू विमानों ने गाजा पट्टी में हमास से संबंधित हथियार निर्माण और भंडारण स्थलों पर हमला किया।

हाल ही में ईरान के शासक अली खामेनी ने बयान दिया कि, “इजरायल का अंत मेरी उम्मीद से जल्द हो रहा है”।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खत्म हुआ हार्दिक पांड्या और नताशा स्टेनकोविच का रिश्ता? करोड़ों की मालकिन हैं कंगना रनौत बिना किस-इंटिमेट सीन 35 फिल्में कर चुकी हूं इंग्लिश तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने रिटायरमेंट का किया ऐलान ‘विराट के खिलाफ रणनीति बनाएंगे… : बाबर आज़म